हमारे सभी आर्टिकल्स खबरे और वीडियो पाने के लिए अनुसरण करें: फेसबुक 

========

 

आंध्रप्रदेश में श्रीकाकुलम नामक स्थान के रहने वाले एक बुज़ुर्ग जिनका नाम गेडेला इंदिरा प्रसाद है। वे इन दिनों ग़रीबों के लिए एक  मसीहा कि तरह उनके साथ खडे हुए  हैं। अपनी ढलती उम्र के साथ भी ये बुज़ुर्ग गरीबी के साथ हर सुख एवं दुख में डट् कर उनके साथ में खड़े हुए हैं।

 

वर्ष 2006 में इंदिरा प्रसाद फ़िजिकल निदेशक के तौर पर सेवानिवृत्त थे। उससे पहले वर्ष 2000 में गेडेला इंदिरा प्रसाद ने किसी बीमारी कि वजह से अपनी धर्म पत्नी का साथ खो दिया था। इसके बाद से ही इंदिरा प्रसाद जी अपनी धर्म पत्नी को मिलने वाली पेंशन कि रकम से ज़रूरत मंदो कि मदद करके अपनी पत्नी का सपना पूरा करने कि कोशिश में लगे हुए हैं।

पत्नी


 

एक रिपोर्ट के मुताबिक , इंदिरा प्रसाद जी की पत्नी स्वर्गीय ललिता देवी पेशे से एक लेक्चरर हुए करती थीं। वे ‘श्रीकाकुलम रोटरी क्लब’ से जुड़े रहने के दौरान सभी सामाजिक कार्य में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया करती थी और हमेशा जरूरतमंदों की मदद किया करती थी। इंदिरा प्रसाद जी ललिता देवी के चले जाने के बाद इस कार्य को आगे बढ़ा रहे हैं।

 

एक सरकारी कॉलेज में लेक्चरर होने की वजह से ललिता देवी को ₹30000 पेंशन के तौर पर मिलती थी। गरीबों की मदद करने के खातिर इंदिरा प्रसाद जी अब पेंशन के तौर पर मिलने वाली सारी रकम गरीबों के लिए दान कर दिया करते हैं। इंदिरा प्रसाद जी के इस नेक कार्य की वजह से कई गरीब बच्चे अपनी शिक्षा पूरी कर पा रहे हैं और कईयों की इससे दूसरी मदद भी हो जा रही है।

 

पत्नीइंदिरा प्रसाद जी अपनी पत्नी को मिलने वाली पेंशन की रकम से गरीब बच्चो की शिक्षा के खातिर उनके स्कूल की फीस भर दिया करते हैं। इसके अलावा यदि बच्चे में प्रतिभा हो और वह किसी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए इच्छुक हो, तो प्रसाद जी उन बच्चों के किराए का खर्च भी उठा लिया करते हैं और भी कई अन्य प्रकार से वे गरीबों की मदद के लिए हमेशा तत्पर मौजूद रहते हैं।

 

इंदिरा प्रसाद जी और ललिता देवी का प्रेम विवाह हुआ था।वे दोनों अलग-अलग जातियों से बिलॉन्ग करते थे।  ललिता जी उड़िया भाषा की लेक्चरर हुए करती थीं।  साल 2000 में एक लंबी बीमारी कि वजह से उनका निधन हो गया।

====

 

हमारे अन्य लेख और खबरे पढ़ने के लिए क्लिक करें: Facebook|   Copyright@ hindi.yuvakatta.com | All Rights Reserved

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here