हमारे सभी आर्टिकल्स खबरे और वीडियो पाने के लिए अनुसरण करें: फेसबुक|

========

एक बार घर-घर कारपेट बेचने वाला आसिफ रहमान अब दुनिया के सबसे अमीर लोगों के लिए कारपेट बनाता है।

 

किसी भी व्यक्ति की लाइफ में कब बदलाव आता है। इसके बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। यदि व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है। तो व्यक्ति एक दिन अवश्य सफलता प्राप्त कर लेता है। आसिफ रहमान जोकि कारपेट बनाने वाला व्यक्ति है। एक समय था, जब आसिफ रहमान लोगों के घर-घर जाकर डोर टू डोर कारपेट बेचा करते थे और अब आसिफ रहमान दुनिया के अमीर लोगों के लिए कारपेट बनाते हैं।

 

कारपेट

 

 

जिस प्रकार से आसिफ रहमान ने अपने जीवन में सफलता हासिल की है। उस प्रकार से हर व्यक्ति सफलता हासिल कर सकता है। लेकिन सफलता हासिल करने के लिए व्यक्ति को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। व्यक्ति को आसिफ रहमान की कहानी से प्रेरणा लेकर अपने जीवन में भी सफलता के लिए प्रयास करना चाहिए। आज हम इस आर्टिकल में आसिफ रहमान के बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाएंगे।

 

 आसिफ रहमान का इतिहास

आसिफ रहमान जो बचपन से ही काफी मेहनती थे। जब आसिफ रहमान अपनी पढ़ाई कर रहे थे। तब भी उन्होंने हर काम में रुचि दिखाई। साल 1981 में आसिफ रहमान ने कोलकाता  के विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की। उसके पश्चात इन्होंने कोलकाता में आसपास नौकरी की तलाश करना शुरू कर दिया। एक दिन इनको एक कारपेट की दुकान मिली। वहां पर इन्होंने खड़े होकर काफी समय तक कारपेट बनाने के बारे में सोचा और खिड़की से बनाए गए कारपेट को अच्छे तरीके से देखा।

 

जब उस कारपेट की दुकान के मालिक की नजर आसिफ रहमान पर पड़ी। तो रहमान जी उस दुकान के उत्पादों को पूरे ध्यान से देख रहे थे। तब दुकान मालिक ने उनको अंदर बुलाया और उनके साथ बातचीत की।  जब आसिफ रहमान ने बताया कि, वह नौकरी की तलाश में घूम रहे हैं। तो दुकान के मालिक ने तुरंत उन्हें नौकरी दे दी। उसके पश्चात रहमान जी को पांच सितारा होटल में कारपेट बनाने का काम सौंपा गया। यहां से इन्होंने कारपेट की लाइन में काम करना शुरू किया।

 

आसिफ रहमान ने अपने जीवन में हर समय कठिन प्रयास और मन लगाकर काम किया। साल 2003 में रहमान जी को न्यूयॉर्क की एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी मिली। रहमान जी अपने जीवन की सभी परेशानियों को साइड में रखते हुए अपने काम पर पूरा जोर दिया और उसी की बदौलत उन्हें न्यूयॉर्क की एक बड़ी कारपेट कंपनी में नौकरी की पेशकश की गई।

 

कारपेट

 

फाउंडेशन ऑफ इंसिजीन कार्पेट्स कंपनी कब लांच हुई

साल 2003 में न्यूयॉर्क किए कारपेट कंपनी में रहमान जी को नौकरी की पेशकश की गई। रहमान जी ने 8 साल तक न्यूयॉर्क कि कारपेट कंपनी के साथ काम किया। उसके पश्चात रहमान जी की लोकप्रियता और अधिक बढ़ गई।  रहमान जी को अंतरराष्ट्रीय कारपेट कंपनियों द्वारा काफी ज्यादा ऑफर आने लगे।

 

एक दिन आसिफ रहमान ने अपना खुद का बिजनेस करने के बारे में सोचा। लेकिन कारपेट का बिजनेस करने के लिए रहमान जी के पास पर्याप्त ज्ञान नहीं था। लेकिन रहमान की जिस काम को करने के बारे में सोच लेते थे। उस काम को करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देते थे। फाइनली साल 2011 में रहमान जी ने अपने खुद की कारपेट कंपनी को लांच किया। कारपेट कंपनी को लॉन्च करने के लिए रहमान जी ने 3500000 रुपए का निवेश कारपेट कंपनी में किया। यहां 3500000 रहमान जी द्वारा इतने सालों तक की गई, नौकरी की बचत के रूप में उनके पास पड़ा था।

 

शुरुआत के समय से ही रहमान जी द्वारा खोली गई कारपेट कंपनी का व्यवसाय काफी बेहतरीन रहा और शुरुआत के दौर में ही रहमान जी को कारपेट के लिए बड़े-बड़े आर्डर मिलने शुरू हुए। रहमान जी ने मुंबई के ताज महल पैलेस होटल में भी कारपेट बनाए थे। उसके पश्चात ताज समूह में रहमान जी की कंपनी को कारपेट बनाने का काम दिया गया।

 

कैसे मिली सफलता

जब से रहमान जी ने न्यूयॉर्क में काम करना शुरू किया। उसके पश्चात उनकी लोकप्रियता कारपेट के क्षेत्र में बढ़ती चली गई। साल 2011 में रहमान जी ने खुद की कारपेट कंपनी खोल दी और उसके पश्चात ताज ग्रुप जैसी बड़ी कंपनियों में रहमान जी को काम करने का ऑर्डर मिला। ताज ग्रुप में काम का ऑर्डर मिलने के पश्चात देश के सबसे अच्छे कारपेट निर्माता ने रहमान जी का नाम आने लगा

====

हमारे अन्य लेख और खबरे पढ़ने के लिए क्लिक करें: Facebook|   Copyright@ hindi.yuvakatta.com | All Rights Reserved

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here