हमारे सभी आर्टिकल्स खबरे और वीडियो पाने के लिए अनुसरण करें: फेसबुक 

========

ऐसे कारण जिसने 2020 को एक बेहतरीन मोड़ दिया



कोविड-19 महामारी एक सदी से भी अधिक समय से पूरे दुनिया में सबसे अधिक नुकसान दे रहा समकालीन समय के प्रथागत सामाजिक राजनीतिक और शांति के साथ इतनी गहरी अनिश्चितता हानि और दुखों से भरा साल बना दिया लेकिन इसी 2020 में बहुत सी ऐसी अच्छी चीजें भी हमारे बीच में जो समय के साथ महामारी से ज्यादा महत्वपूर्ण हो सकती है साल को एक नया मोड़ देने की कोशिश की आइए जानते हैं क्या कर 2020 बेहतर बनाने के लिए वाह महत्वपूर्ण मोड़ क्या रहा।


डोनाल्ड ट्रंप की हार

2020


4 साल तक शासन करने के बाद नवंबर 2020 में हुए अमेरिकी चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को वोट प्राप्त हुए, जिसके साथ उनकी हार हो गई क्रम के अंत का मतलब ट्रंप वाद का अंत बिल्कुल भी नहीं है। लेकिन 2020 में कम से कम उस व्यक्ति को अधिकार नहीं दिया गया।

जो एक व्यक्ति है, न केवल सभी समय का सबसे अयोग्य राष्ट्रपति बल्कि जिसका पेशेवर नए वेट उसके निजी मेगालोमानिया जितना खतरनाक है। जो भी अमेरिकी लोकतंत्र के लिए एक नया अध्याय सबसे अच्छा होगा या दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश को पूर्व में सबसे खराब रहेगा। लेकिन जो भी हो ब्रिटेन के आने से ट्रंप किस जातियों से बचा गया जिसके लिए पूरी दुनिया को आभारी होना चाहिए।

 

मजबूत हुई महिलाओं की शक्ति


आज के समय में अगर देखा जाए कि जर्मनी, ताइवान और न्यूजीलैंड में सबसे आम चीज क्या है तो बता दूं कि तीनों ने कोविड-19 महामारी से बहुत ही अच्छे से बचने का प्रबंधन किया है। इन तीनों में महिलाएं राजनीति नेता एंजेला मर्केल, तसाई इन्ग वेन और जैसिन गार्डन है।

यह कहना गलत नहीं है, कि संकट के समय महिलाएं पुरुषों की तुलना अधिक कुशल नेता बनते हैं। यह कहना है, कि पूर्व धारणा के विपरीत फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट के समरूपता की आवश्यकता के बिना महिलाएं लाभ के साथ एक संकट के दौरान नेतृत्व कर सकती हैं।

जबकि महामारी ने मजबूत नेता बोरिस जॉनसन, नरेंद्र मोदी जैसे बडे नेताओ की तुलना महिलाओं के नेतृत्व वाले देशों के प्रदर्शन को अधिक अच्छे ढंग से चला रही है।

भारत में जुल्म के खिलाफ आवाज उठाई

2020


फिलहाल किसान जो दिल्ली की सीमा पर तीन केंद्रीय कानूनों का विरोध कर रहे हैं जबकि 2020 के कुछ पहले महीनों में छात्र और महिलाओं ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के पक्षपात पूर्ण कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का बीड़ा उठाया था।

महामारी से पटरी से उतरने से पहले कैलेंडर के समापन महीनों में किसान के आंदोलन का वर्चस्व रहा जल्दबाजी में पारित कृषि कानूनों का विरोध करते किसान दिल्ली के सड़कों पर उतर आए। दिल्ली जिसने भ्रष्टाचार के खिलाफ 2011 में प्रदर्शन किया था। जिसके बाद सरकार के खिलाफ इतने बड़े पैमाने पर प्रोटेस्ट करने का उत्साह साल 2020 में देखा गया। भारतीयों ने जोरदार प्रदर्शन कर भारतीय लोकतंत्र में अपने जुल्मों के खिलाफ आवाज उठाना सीख लिया है।


जलवायु में परिवर्तन


ऑस्ट्रेलिया में बूशफायर केन्या में टिडीडिया, फिलीपींस में ज्वालामुखी विस्फोट, जो सभी 2020 में स्थानांतरित हो गए एवं जलवायु संकट के हिम्शैल के टिप का प्रतिनिधित्व करते हैं। लेकिन यह इस साल की जलवायु आपदाओं की दृष्टि की प्रकृति है, जो कि ग्रेट थुन्बर्ग द्वारा सबसे अधिक अपमानजनक ड्रेसिंग-डाउन की तुलना में नए शहर को बैठने और नोटिस लेने के लिए बाध्य है।

महामारी ने इस साल वैश्विक कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन में काफी गिरावट दर्ज की है जिसे आज के सबसे बड़े खतरे जलवायु परिवर्तन के खिलाफ तत्काल बातचीत और कार्रवाई को बढ़ावा देने के लिए एक अनजाने आशीर्वाद के रूप में लिया जाना चाहिए।

2020


विज्ञान का विजय


सभी को टीका लगाने की आवश्यकता होने से पहले एक लंबा समय लगेगा। जहां राजनीतिक विशेषाधिकार की दोष रेखाएं महामारी के संकल्प को निर्धारित करेगी। लेकिन नहीं हमारी प्रजातियां यह नहीं भूलती की कैसे सहयोग करना है। सबसे मौलिक कौशल जिसने हमें जानवरों से लेकर युद्ध तक सभी चीजों को उठाने की अनुमति दी है और विभजनों को ध्यान में रखते हुए, जो आज हमें साम्राज्य तक करते हैं- नागरिकों के रूप में, देशों के रूप में, पृथ्वी के सह निवासियों के रूप में, तेजी से होने वाले टीके को जारी करने में विज्ञान की जीत है। इसके अलावा कई अन्य लोगों के विकास पर अथक काम के अलावा यह सबसे अच्छा कारण है। वर्ष में मानवता में हमारी आशा को बनाए रखने के लिए प्रदान किया है

====

हमारे अन्य लेख और खबरे पढ़ने के लिए क्लिक करें: Facebook|   Copyright@ hindi.yuvakatta.com | All Rights Reserved

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here